1. हमारे मुस्लिम वोट तृणमूल कांग्रेस को चले गए और लेफ्ट ने भी अपना वोट ट्रांसफर कर दिया: अधीर  Hindustan
  2. बंगाल चुनाव में मुस्लिम वोटों को एकजुट करने में कामयाब रहीं ममता बनर्जी, नतीजों में दिखा सीधा असर  Navbharat Times
  3. West Bengal: वामो-कांग्रेस व मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण के चलते भाजपा को नहीं मिली अपेक्षित सफलता  दैनिक जागरण
  4. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
पश्चिम बंगाल के चुनाव में भले ही बीजेपी को उम्मीदों के मुताबिक सफलता नहीं मिली congress leader adhir ranjan chaudhary told why party left zero in bengal, Bengal Election-2021 Hindi News - Hindustanपश्चिम बंगाल के चुनाव में भले ही बीजेपी को उम्मीदों के मुताबिक सफलता नहीं मिली है, लेकिन सबसे बड़ा झटका कांग्रेस को लगा है। 2016 में 44 सीटों पर जीत हासिल करने वाली कांग्रेस इस बार शून्य पर ही रह गई।...

congress leader adhir ranjan chaudhary told why party left zero in bengal - हमारे मुस्लिम वोट तृणमूल कांग्रेस को चले गए और लेफ्ट ने भी अपना वोट ट्रांसफर कर दिया: अधीर

हालिया पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी प्रदेश के मुस्लिम वोटों को अपने पक्ष में एकजुट करने में सफल रहीं, जिसका सीधा असर नतीजों पर पड़ा है और टीएमसी तीसरी बार बंगाल की सत्ता पर काबिज हो गई है।हालिया पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी प्रदेश के मुस्लिम वोटों को अपने पक्ष में एकजुट करने में सफल रहीं, जिसका सीधा असर नतीजों पर पड़ा है और टीएमसी तीसरी बार बंगाल की सत्ता पर काबिज हो गई है।

navbharattimes.indiatimes.com

West Bengal वैसे तो भगवा ब्रिगेड के आशानुरूप प्रदर्शन नहीं करने के पीछे कई वजहें हैं। लेकिन इनमें मुस्लिम वोटों का ममता के पक्ष में ध्रुवीकरण और वाममोर्चा-कांग्रेस के पारंपरिक वोटों का तृणमूल की ही झोली में जाना अहम हैं।West Bengal वैसे तो भगवा ब्रिगेड के आशानुरूप प्रदर्शन नहीं करने के पीछे कई वजहें हैं। लेकिन इनमें मुस्लिम वोटों का ममता के पक्ष में ध्रुवीकरण और वाममोर्चा-कांग्रेस के पारंपरिक वोटों का तृणमूल की ही झोली में जाना अहम हैं।

BJP did not get desired success due to polarization of Left Congress and Muslim votes In West Bengal