1. सचिन बोले- बैकग्राउंड नहीं, मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है  Aaj Tak
  2. अब ऑनलाइन युवाओं को बल्लेबाजी के गुण सिखाएंगे सचिन तेंदुलकर, आप भी बन सकते हैं हिस्सा  दैनिक जागरण (Dainik Jagran)
  3. सचिन तेंदुलकर को अब कोई भी बना सकता है अपना गुरु, मुफ्त में ऑनलाइन कोचिंग देंगे ‘क्रिकेट के भगवान’  Jansatta
  4. सचिन तेंदुलकर बोले- खिलाड़ी को उसका बैकग्राउंड नहीं बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है  NDTV Khabar
  5. सचिन तेंदुलकर युवाओं को सिखाएंगे ऑनलाइन क्रिकेट के गुण  Prabhasakshi
  6. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का मानना है कि खेलों में किसी खिलाड़ी को उसकी पृष्ठभूमि नहीं, बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है. सर्वकालिक महान क्रिकेटरों में से एक तेंदुलकर ने कई रिकॉर्ड अपने नाम करने के बाद 2013 में संन्यास ले लिया था.मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का मानना है कि खेलों में किसी खिलाड़ी को उसकी पृष्ठभूमि नहीं, बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है. सर्वकालिक महान क्रिकेटरों में से एक तेंदुलकर ने कई रिकॉर्ड अपने नाम करने के बाद 2013 में संन्यास ले लिया था.

सचिन बोले- बैकग्राउंड नहीं, मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है - Sport does not recognise anything other than on field performance: Sachin Tendulkar tspo - AajTak

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ अनएकेडमी ने एक साझेदारी की है जिसके तहत सचिन तेंदुलकर वर्चुअल क्रिकेट सत्रों में नजर आएंगे और युवा बल्लेबाजों को ऑनलाइन आकर क्रिकेट के गुण सिखाएंगे। इस बात को लेकर तेंदुलकर भी उत्साहित हैंमहान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ अनएकेडमी ने एक साझेदारी की है जिसके तहत सचिन तेंदुलकर वर्चुअल क्रिकेट सत्रों में नजर आएंगे और युवा बल्लेबाजों को ऑनलाइन आकर क्रिकेट के गुण सिखाएंगे। इस बात को लेकर तेंदुलकर भी उत्साहित हैं

Sachin Tendulkar to conduct virtual cricket sessions

Access Denied

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का मानना है कि खेलों में किसी खिलाड़ी को उसकी पृष्ठभूमि नहीं बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है. सर्वकालिक महान क्रिकेटरों में से एक तेंदुलकर ने कई रिकार्ड अपने नाम करने के बाद 2013 में संन्यास ले लिया थासचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का मानना है कि खेलों में किसी खिलाड़ी को उसकी पृष्ठभूमि नहीं बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है. सर्वकालिक महान क्रिकेटरों में से एक तेंदुलकर ने कई रिकार्ड अपने नाम करने के बाद 2013 में संन्यास ले लिया था

Sports does not recognise anything other than on-field performance says Sachin Tendulkar - सचिन तेंदुलकर बोले- खिलाड़ी को उसका बैकग्राउंड नहीं बल्कि मैदान पर प्रदर्शन पहचान दिलाता है