1. निर्भया केस में देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के मामलों के लिए गाइडलाइन तय की  NDTV Khabar
  2. निर्भया को इंसाफ में देरी, सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के लिए तय की गाइडलाइन  आज तक
  3. सुप्रीम कोर्ट/ मौत की सजा के मामलों के लिए गाइडलाइन तय, निर्भया केस में देरी को देखते हुए फैसला  दैनिक भास्कर
  4. अब अनिश्चित काल तक नहीं लटकेगी फांसी के मामलों में सुनवाई, सुप्रीम कोर्ट ने तय की गाइडलाइन  दैनिक जागरण (Dainik Jagran)
  5. निर्भया मामले में इंसाफ में देरी, सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा पर तय की गाइडलाइन  News18 हिंदी
  6. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
निर्भया मामले में हो रही देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के मामलों के लिए गाइडलाइन तय की है. इसके मुताबिक अगर कोई हाइकोर्ट किसी मौत की सजा की पुष्टि करता है और सुप्रीम कोर्ट इसकी अपील पर सुनवाई की सहमति जताता है तो 6 महीने के भीतर मामले को तीन जजों की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा, भले ही अपील तैयार हो या नहीं.निर्भया मामले में हो रही देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के मामलों के लिए गाइडलाइन तय की है. इसके मुताबिक अगर कोई हाइकोर्ट किसी मौत की सजा की पुष्टि करता है और सुप्रीम कोर्ट इसकी अपील पर सुनवाई की सहमति जताता है तो 6 महीने के भीतर मामले को तीन जजों की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा, भले ही अपील तैयार हो या नहीं.

On delay in Nirbhaya case, Supreme Court sets guidelines for death penalty cases - निर्भया केस में देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के मामलों के लिए गाइडलाइन तय की | India News in Hindi

गाइडलाइन में कहा गया है, अगर कोई हाईकोर्ट किसी को मौत की सजा देने की पुष्टि करता है और सुप्रीम कोर्ट इसकी अपील पर सुनवाई की सहमति जताता है तो 6 महीने के भीतर मामले को तीन जजों की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा. गाइडलाइन में कहा गया है, अगर कोई हाईकोर्ट किसी को मौत की सजा देने की पुष्टि करता है और सुप्रीम कोर्ट इसकी अपील पर सुनवाई की सहमति जताता है तो 6 महीने के भीतर मामले को तीन जजों की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा.

निर्भया को इंसाफ में देरी, सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा के लिए तय की गाइडलाइन - Nirbhaya case supreme court guidelines death penalty criminal appeals delhi - AajTak

“धन्यवाद सुप्रीम कोर्ट बिलकुल इसी तरह कटघरे में एक दिन @OfficeOfKNath भी लाया जायेगा और उसे भी ऐसा ही फ़ैसला सुनाया जायेगा”

Manjinder S Sirsa on Twitter: "धन्यवाद सुप्रीम कोर्ट बिलकुल इसी तरह कटघरे में एक दिन @OfficeOfKNath भी लाया जायेगा और उसे भी ऐसा ही फ़ैसला सुनाया जायेगा… https://t.co/OcJyZaQUrF"

“सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय का स्वागत करता हूँ। प्रतिभाशाली, योग्य और बेदाग नेता देश की दिशा और दशा बदलने में तेज़ी से कार्य करते हैं। इस फैसले से न सिर्फ भारत की राजनीतिक पार्टियों की छवि में सुधार होगा, बल्कि राष्ट्र के निर्माण में योग्य व्यक्ति भी अपना बेहतर योगदान दे पाएंगे।”

Shivraj Singh Chouhan on Twitter: "सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय का स्वागत करता हूँ। प्रतिभाशाली, योग्य और बेदाग नेता देश की दिशा और दशा बदलने में तेज़ी से कार्य करते हैं। इस फैसले से न सिर्फ भारत की राजनीतिक पार्टियों की छवि में सुधार होगा, बल्कि राष्ट्र के निर्माण में योग्य व्यक्ति भी अपना बेहतर योगदान दे पाएंगे।… https://t.co/OrVgtHmX5b"

“सुप्रीम कोर्ट ने कहा- क़ानून नहीं बचा, देश छोड़ दें तो बेहतर अदालत की टिप्पणी पर बीजेपी/सरकार की टिप्पणी प्लीज़ ? #Telecom https://t.co/WAWtfLXylN”

ashutosh on Twitter: "सुप्रीम कोर्ट ने कहा- क़ानून नहीं बचा, देश छोड़ दें तो बेहतर अदालत की टिप्पणी पर बीजेपी/सरकार की टिप्पणी प्लीज़ ? #Telecom https://t.co/WAWtfLXylN"

“सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने बुधवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश राहुल चतुर्वेदी (जिसने चिन्मयानंद को जमानत दी)को उस उच्च न्यायालय के स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की सिफारिश की। #कोलेजियम_सिस्टम_कलंक_है https://t.co/5iFaBrkkMk”

Dr. Udit Raj on Twitter: "सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने बुधवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश राहुल चतुर्वेदी (जिसने चिन्मयानंद को जमानत दी)को उस उच्च न्यायालय के स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की सिफारिश की। #कोलेजियम_सिस्टम_कलंक_है https://t.co/5iFaBrkkMk"