1. श्राद्ध में पूर्वजों को नहीं करना चाहते नाराज? भूलकर भी न करें ये 5 काम  आज तक
  2. Pitru Paksha 2019: क्‍यों किया जाता है श्राद्ध, क्या है पिंडदान का क्‍या अर्थ है, जानें खास बातें  Live Hindustan
  3. इस दिन से शुरू होंगे श्राद्ध, 16 दिन तक भूलकर भी न करें ये पांच काम  अमर उजाला
  4. पितृ पक्ष में नई वस्‍तुओं की खरीदारी शुभ या अशुभ, जानिए क्या हैं मान्यताएं  Navbharat Times
  5. पूर्वजों यानी पितरों को श्रद्धा के तर्पण का पक्ष है पितृपक्ष, ...जानें महात्म्य और कब से शुरू हो रहा पितृपक्ष ?  प्रभात खबर
  6. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
इस बार पितृपक्ष 13 सितंबर से शुरू हो रहा है जो 28 सितंबर तक चलेगा. इस दौरान कुल 16 श्राद्ध किए जाएंगे.इस बार पितृपक्ष 13 सितंबर से शुरू हो रहा है जो 28 सितंबर तक चलेगा. इस दौरान कुल 16 श्राद्ध किए जाएंगे.

श्राद्ध में पूर्वजों को नहीं करना चाहते नाराज? भूलकर भी न करें ये 5 काम - Shradh 2019 date and time 5 things to remember during pind daan tlifd - AajTak

ब्रह्म पुराण के श्राद्ध प्रकाश में कहा गया है कि जो उचित काल, पात्र एवं स्थान के अनुसार, Pitru Paksha 2019 vishesh: pitaron ko shraddha ka arpan, Astrology Hindi News - Hindustanब्रह्म पुराण के श्राद्ध प्रकाश में कहा गया है कि जो उचित काल, पात्र एवं स्थान के अनुसार, शास्त्रोचित विधि से पितरों को लक्ष्य करके श्रद्धापूर्वक ब्राह्मणों को दिया जाता है, वह श्राद्ध है। मनुस्मृति...

पितृ पक्ष 2019 विशेष: पितरों को श्रद्धा का अर्पण - Pitru Paksha 2019 vishesh: pitaron ko shraddha ka arpan

आश्विन कृष्ण प्रतिपदा से लेकर अमावस्या पंद्रह दिन पितृपक्ष के नाम से विख्यात है. इन पंद्रह दिनों में लोग अपने पूर्वजों को जल देते हैं तथा उनकी मृत्युतिथि पर श्राद्ध करते हैं. पिता-माता आदि पारिवारिक सदस्यों की मृत्यु के पश्चात्‌ उनकी तृप्ति के

पूर्वजों यानी पितरों को श्रद्धा के तर्पण का पक्ष है पितृपक्ष, ...जानें महात्म्य और कब से शुरू हो रहा पितृपक्ष ?

Pitru Paksha Shradh 2019 Significance Pitru Paksha Shradh Mahatva मृत पिता आदि के उद्देश्य से श्रद्धा पूर्वक जो प्रिय भोजन दिया जाता है वह श्राद्ध कहलाता है।Pitru Paksha Shradh 2019 Significance Pitru Paksha Shradh Mahatva मृत पिता आदि के उद्देश्य से श्रद्धा पूर्वक जो प्रिय भोजन दिया जाता है वह श्राद्ध कहलाता है।

Pitru Paksha Shradh 2019 Significance pitra rin mrityu tithi and shradh karma

Pitru paksha 2019: shradh paksha upay in hindi पितृपक्ष में कर लिये ये काम तो समझों प्रसन्न हो गये आपके पूर्वजपितृपक्ष में कर लिये ये काम तो समझों प्रसन्न हो गये आपके पूर्वज

Pitru paksha 2019: shradh paksha upay in hindi - Dharma Karma News in Hindi - पितृपक्ष में कर लिये ये काम तो समझों प्रसन्न हो गये आपके पूर्वज, जानें कौन से हैं वो काम | Patrika Hindi News

जीवन मंत्र डेस्क. पुराणों के अनुसार, मृत्यु के बाद भी जीव की पवित्र आत्माएं किसी न किसी रूप में श्राद्ध पक्ष में अपनी परिजनों को आशीर्वाद देने के लिए धरती पर आती हैं। | Pitru Paksha 2019 From 13 to 28 September Its 16 Days For Special puja of Ancestors जीवन मंत्र डेस्क. पुराणों के अनुसार, मृत्यु के बाद भी जीव की पवित्र आत्माएं किसी न किसी रूप में श्राद्ध पक्ष में अपनी परिजनों को आशीर्वाद देने के लिए धरती पर आती हैं। | Pitru Paksha 2019 From 13 to 28 September Its 16 Days For Special puja of Ancestors

Pitru Paksha 2019 From 13 to 28 September Its 16 Days For Special puja of Ancestors | पूर्वजों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का अवसर, इन 16 दिनों में विशेष पूजा से पितर होते हैं तृप्त - Dainik Bhaskar

धार्मिक ग्रंथो के अनुसार पारिवारिक कलयाण और पितरों कि आत्मशांति के लिए पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म करना चाहिए। Read latest hindi news (ताजा हिन्दी समाचार) on shradh date 2019, pitr paksh ka mahatva, pilgrimage important for shraddha karma? - #1 हिन्दी न्यूज़ website.धार्मिक ग्रंथो के अनुसार पारिवारिक कलयाण और पितरों कि आत्मशांति के लिए पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म करना चाहिए।

Pitru Paksha 2019:who Does Shradh - Pitru Paksha 2019: पितृपक्ष हो रहा है प्रारंभ, जानें कौन कर सकता है श्राद्ध कर्म - Amar Ujala Hindi News Live

भाद्रपद पूर्णिमा से आश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक के सोलह दिनों को पितृपक्ष कहते हैं. इस दौरान जिस तिथि में पूर्वजों या परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होती है, उसी तिथि को पितृपक्ष में उनका श्राद्ध किया जाता है.भाद्रपद पूर्णिमा से आश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक के सोलह दिनों को पितृपक्ष कहते हैं. इस दौरान जिस तिथि में पूर्वजों या परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होती है, उसी तिथि को पितृपक्ष में उनका श्राद्ध किया जाता है.

Pitru Paksha 2019: Know the important tithi and shraddh Puja Vidhi and type of tarpan | Pitru Paksha 2019: 13 सितंबर से शुरू हो रहा है पितृ पक्ष, जानें किस दिन कौन सा श्राद्ध | Hindi News, धर्म

श्राद्ध पक्ष को लेकर लोगों के मन में आम तौर पर यह धारणा बनी हुई है कि यह अशुभ समय होता है और इस दौरान कोई भी नया काम करने या फिर कोई भी नई चीज खरीदना शुभ नहीं माना जाता। ऐसा करने से पितृगण नाराज हो जाते हैं। यही वजह है कि इस धारणा […]श्राद्ध पक्ष को लेकर लोगों के मन में आम तौर पर यह धारणा बनी हुई है कि यह अशुभ समय होता है और इस दौरान कोई भी नया काम करने

Pitru Paksha Inauspicious : Why Pitru Paksha Is Inauspicious For Shopping | पितृ पक्ष में नई वस्‍तुओं की खरीदारी शुभ या अशुभ, जानिए क्या हैं मान्यताएं - Pitru Paksha | नवभारत टाइम्स

Pitru Paksha 2019: शुक्ल चतुर्दशी से शुरू होकर अश्विन पक्ष की अमावस्या तक पितरों का श्राद्ध किया जाएगा. इस साल 13 सितंबर से पितृ पक्ष 2019 शुरू हो रहा है. पुराण में 12 तरह के अलग-अलग श्राद्ध बताए गए हैं, जानिए क्या.Pitru Paksha 2019: शुक्ल चतुर्दशी से शुरू होकर अश्विन पक्ष की अमावस्या तक पितरों का श्राद्ध किया जाएगा. इस साल 13 सितंबर से पितृ पक्ष 2019 शुरू हो रहा है. पुराण में 12 तरह के अलग-अलग श्राद्ध बताए गए हैं, जानिए क्या.

Pitru Paksha 2019: Shradh starts from 13 september know 12 types of shradh karm in hindu religion पितृ पक्ष 13 सितंबर से शुरू, पितरों के लिए 12 तरह के होते हैं श्राद्ध कर्म, जानिए सभी का मतलब

ब्रह्म पुराण के अनुसार 'जो व्यक्ति शाक के द्वारा श्रद्धा-भक्ति से श्राद्ध करता है, उसके कुल में कोई भी दुःखी नहीं होता।'ब्रह्म पुराण के अनुसार 'जो व्यक्ति शाक के द्वारा श्रद्धा-भक्ति से श्राद्ध करता है, उसके कुल में कोई भी दुःखी नहीं होता।'

पितृ पक्ष में श्रद्धापूर्वक किया गया श्राद्ध देता हैं आयु, पुत्र, यश, स्वर्ग, कीर्ति, धन और सुख | Webdunia Hindi

13 सितंबर पूर्णिमा को ऋषि तर्पण तथा श्राद्ध होगा इसके पश्चात 14 सितम्बर से पितृ पाक श्राद्ध प्रारम्भ होगा। यह 28 सितम्बर तक चलेगा। यहां जानें किस दिन करें किसका श्राद्ध...13 सितंबर पूर्णिमा को ऋषि तर्पण तथा श्राद्ध होगा इसके पश्चात 14 सितम्बर से पितृ पाक श्राद्ध प्रारम्भ होगा। यह 28 सितम्बर तक चलेगा। यहां जानें किस दिन करें किसका श्राद्ध...

Ancestral Shraddha Paksha, Important TITHI Important dates,   Latest, Live, Hindi, News, SamacharAncestral Shraddha Paksha, Important TITHI Important dates,   Latest, Live, Hindi, News, Samachar

PITRU PAKSHA / SHRADDH PAKSHA 2019 की महत्वपूर्ण तिथि एवं तारीखें | GWALIOR NEWS

Access Denied

हिंदू धर्म में पितरों को संतुष्ट करने के लिए श्राद्ध करने की परंपरा है. इसके मुताबिक, आपके जो भी परिवारजन देह त्याग चुके हैं उनकी आत्मा की शांति और मुक्ति के लिए श्राद्ध कर्म किया जाता है. | dharm News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी हिंदू धर्म में पितरों को संतुष्ट करने के लिए श्राद्ध करने की परंपरा है. इसके मुताबिक, आपके जो भी परिवारजन देह त्याग चुके हैं उनकी आत्मा की शांति और मुक्ति के लिए श्राद्ध कर्म किया जाता है. | dharm News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

ऐसा माना जाता है कि अगर इस पूजा में किसी प्रकार की गलती हो जाए तो पूर्वजों को काफी दुख पहुंचता है. आइए जानते हैं श्राद्ध पक्ष की महत्वपूर्ण तिथियां और महत्व...|shradh in 2019 date 13 september know shradh importance bgys | dharm - News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी