1. Hiroshima Day: 6 अगस्‍त 1945, सुबह सवा आठ बजे जमीन से 600 मीटर ऊपर फटा 'लिटिल बॉय'... सब तबाह  Navbharat Times
  2. Hiroshima Day 2022: जब 4000 डिग्री गर्मी से खत्म हो गया था आधा शहर, कई किलोमीटर हुई थी 'मौत की बारिश'  Aaj Tak
  3. हिरोशिमा दिवस : युद्ध से नहीं होता किसी का भला, लोगों की उम्मीदें होती हैं जमींदोज  अमर उजाला
  4. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
भारत न्यूज़: Hiroshima Day 6th august: दूसरे विश्‍वयुद्ध में जापान को रोकने के लिए अमेरिका ने उसके पांच शहरों पर परमाणु हमले की योजना बनाई थी। छह अगस्‍त 1945 को पहला हमला हिरोशिमा पर हुआ और 9 अगस्‍त को दूसरा हमला नागासाकी पर।Hiroshima Day 6th august: दूसरे विश्‍वयुद्ध में जापान को रोकने के लिए अमेरिका ने उसके पांच शहरों पर परमाणु हमले की योजना बनाई थी। छह अगस्‍त 1945 को पहला हमला हिरोशिमा पर हुआ और 9 अगस्‍त को दूसरा हमला नागासाकी पर।

navbharattimes.indiatimes.com

Hiroshima Day 2022, 77th Anniversary of Hiroshima Nuclear Explosion: आज से 77 साल पहले अमेरिका ने विश्व युद्ध-2 के दौरान जापान के दो शहरों हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था जिसमें 30 प्रतिशत आबादी कुछ ही मिनटों में जलकर खत्म हो गई थी. इसके तीन दिन बाद नागासाकी पर दूसरा परमाणु बम गिराया गया था.Hiroshima Day 2022, 77th Anniversary of Hiroshima Nuclear Explosion: आज से 77 साल पहले अमेरिका ने विश्व युद्ध-2 के दौरान जापान के दो शहरों हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था जिसमें 30 प्रतिशत आबादी कुछ ही मिनटों में जलकर खत्म हो गई थी. इसके तीन दिन बाद नागासाकी पर दूसरा परमाणु बम गिराया गया था.

Hiroshima Day 2022: जब 4000 डिग्री गर्मी से खत्म हो गया था आधा शहर, कई किलोमीटर हुई थी 'मौत की बारिश' - Hiroshima Day 2022 history of 6 august 77th anniversary of Hiroshima nuclear explosion Important facts - AajTak

6 अप्रैल 1945, ये वही दिन है जब जापान ने दो सूरज देखे थे एक रोज की तरह निकलने वाला और दूसरा तबाही का, इस दिन हिरोशिमा पर न्यूक्लियर अटैक हुआ था। इस अटैक से शहर के लगभग 90 प्रतिशत यानी 80 हजार लोगों की मौत हो गई। दूसरी वर्ल्ड वॉर चल रही थी, और दुनिया में ये पहली बार था जब परमाणु बम का इस्तेमाल किसी शहर पर किया गया था। | Traces of the atomic bomb have been there for 77 years, from Little Boy to The Beginning and The End6 अप्रैल 1945, ये वही दिन है जब जापान ने दो सूरज देखे थे एक रोज की तरह निकलने वाला और दूसरा तबाही का, इस दिन हिरोशिमा पर न्यूक्लियर अटैक हुआ था। इस अटैक से शहर के लगभग 90 प्रतिशत यानी 80 हजार लोगों की मौत हो गई। दूसरी वर्ल्ड वॉर चल रही थी, और दुनिया में ये पहली बार था जब परमाणु बम का इस्तेमाल किसी शहर पर किया गया था। | Traces of the atomic bomb have been there for 77 years, from Little Boy to The Beginning and The End

77 साल से हैं परमाणु बम के निशान, लिटिल बॉय से लेकर द बिगनिंग और द एंड फिल्मों में दिखाई गई बर्बादी | Traces of the atomic bomb have been there for 77 years, from Little Boy to The Beginning and The End - Dainik Bhaskar

Hiroshima Day: परमाणु हमले के बाद पूरा हिरोशिमा शहर समतल जमीन में तब्दील हो गया. हिरोशिमा जापान का सातवां सबसे बड़ा शहर था. हर साल 6 अगस्त को हिरोशिमा डे मनाया जाता है | Hiroshima day 6 august atomic bombings in hiroshima in japan by america hiroshima and nagasakiHiroshima Day: परमाणु हमले के बाद पूरा हिरोशिमा शहर समतल जमीन में तब्दील हो गया. हिरोशिमा जापान का सातवां सबसे बड़ा शहर था. हर साल 6 अगस्त को हिरोशिमा डे मनाया जाता है

Hiroshima Day: 4000 किलो वजनी 'लिटिल बॉय' ने पूरे शहर को कर दिया था राख | TV9 Bharatvarsh

Read Latest Aligarh News Today in Hindi - दूसरे विश्वयुद्ध में अमेरिका ने प्रतिकार के रूप में छह अगस्त 1945 को जापान के शहर हिरोशिमा पर परमाणु बमहिरोशिमा दिवस : युद्ध से नहीं होता किसी का भला, लोगों की उम्मीदें होती हैं जमींदोज

War Does Not Benefit Anyone - हिरोशिमा दिवस : युद्ध से नहीं होता किसी का भला, लोगों की उम्मीदें होती हैं जमींदोज - Aligarh News

हिरोशिमा पर एटम बम हमले की 77वीं बरसी के मौके पर संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि ‘मानवता एक भरी हुई बंदूक से खेल रही है.’ गुटेरेस ने यूक्रेन, मध्य पूर्व और कोरियाई प्रायद्वीप में मौजूदा संकट से परमाणु जोखिम के बढ़ने की चेतावनी दी. - hiroshima 77th anniversary atomic bombing nuclear threat un secretary general antonio guterres first atomic bomb attack nagasaki america rksहिरोशिमा पर एटम बम हमले की 77वीं बरसी के मौके पर संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि ‘मानवता एक भरी हुई बंदूक से खेल रही है.’ गुटेरेस ने यूक्रेन, मध्य पूर्व और कोरियाई प्रायद्वीप में मौजूदा संकट से परमाणु जोखिम के बढ़ने की चेतावनी दी.

हिरोशिमा पर एटम बम हमले की 77वीं बरसी, यूएन चीफ की चेतावनी- ‘भरी हुई बंदूक से खेल रही है मानवता’ - hiroshima 77th anniversary atomic bombing nuclear threat un secretary general antonio guterres first atomic bomb attack nagasaki america rks – News18 हिंदी

Hiroshima Day: अमेरिकी स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद से ही चीन आक्रमक हो गया है और उसने ताइवान की सीमा पर बड़ी संख्या में अपने सैनिक तैनात कर दिए हैं. लगातार युद्ध अभ्यास जारी है और मिसाइलों का परीक्षण भी किया जा रहा है. दोनों देशों के बीच कभी भी युद्ध छिड़ने की आशंका है. युद्ध होता है तो इसमें अमेरिका ताइवान के समर्थन में उतर सकता है. इस माहौल ने 77 साल पहले के द्वितीय विश्व युद्ध की यादें ताजा कर दी हैं. आज 6 अगस्त है और यही वह काला दिन है जिसे दुनिया हिरोशिमा दिवस के नाम से जानती है और जापान चाहकर भी इसे भूल नहीं सकता. आज ही के दिन 1945 में अमेरिका ने हिरोशिमा पर परमाणु बम गिराया था. आइए इतिहास के पन्नों को टटोलते हुए जानते हैं 6 अगस्त 1945 की पूरी कहानी.Hiroshima Day: अमेरिकी स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद से ही चीन आक्रमक हो गया है और उसने ताइवान की सीमा पर बड़ी संख्या में अपने सैनिक तैनात कर दिए हैं. लगातार युद्ध अभ्यास जारी है और मिसाइलों का परीक्षण भी किया जा रहा है. दोनों देशों के बीच कभी भी युद्ध छिड़ने की आशंका है. युद्ध होता है तो इसमें अमेरिका ताइवान के समर्थन में उतर सकता है. इस माहौल ने 77 साल पहले के द्वितीय विश्व युद्ध की यादें ताजा कर दी हैं. आज 6 अगस्त है और यही वह काला दिन है जिसे दुनिया हिरोशिमा दिवस के नाम से जानती है और जापान चाहकर भी इसे भूल नहीं सकता. आज ही के दिन 1945 में अमेरिका ने हिरोशिमा पर परमाणु बम गिराया था. आइए इतिहास के पन्नों को टटोलते हुए जानते हैं 6 अगस्त 1945 की पूरी कहानी.

Hiroshima Day 2022: Today is 77th Anniversary of Hiroshima Nuclear Explosion, know how everything Finished in just a minute | मिनटों में खत्म हो गया था पूरा शहर, 77 साल बाद भी लोगों को याद है 'मौत की बारिश' का वो मंजर | Hindi News,

Hiroshima Day 2022: 77 साल हो गए , लेकिन उस दर्द पर मलहम नहीं लग पाया है. ये दर्दनाक दास्तां है दूसरे विश्व युद्ध की जब जापान के दो शहरों हिरोशिमा और नागासकी पर किया गया था परमाणु हमला.Hiroshima Day 2022: 77 साल हो गए , लेकिन उस दर्द पर मलहम नहीं लग पाया है. ये दर्दनाक दास्तां है दूसरे विश्व युद्ध की जब जापान के दो शहरों हिरोशिमा और नागासकी पर किया गया था परमाणु हमला.

Hiroshima Day: कुछ ही मिनटों में जलकर मर गए थे लाखों लोग, तबाह हो गया था जापान, जानें पूरी कहानी

Hiroshima Day 6 August 1945 अमेरिका ने आज के ही दिन 1945 में जापान के हिरोशिमा शहर पर पहला परमाणु बम गिराया था जिससे लाखों लोगों की मौत हो गई थी। आज भी जापान के लोगों में इस त्रासदी के जख्म दिखाई देते हैं।Hiroshima Day 6 August 1945 अमेरिका ने आज के ही दिन 1945 में जापान के हिरोशिमा शहर पर पहला परमाणु बम गिराया था जिससे लाखों लोगों की मौत हो गई थी। आज भी जापान के लोगों में इस त्रासदी के जख्म दिखाई देते हैं।

Hiroshima Day 6 August 1945: अमेरिका ने आज के ही दिन जापान के हिरोशिमा शहर पर गिराया था पहला परमाणु बम, लाखों लोगों की हुई थी मौत - Hiroshima Day 6 August 1945 America dropped first atomic bomb on Hiroshima city of Japan on this day millions of people died

www.prabhatkhabar.com

देश-दुनिया के इतिहास में 06 अगस्त की तारीख तमाम तरह के बदलावों के लिए दर्ज है। मगर इतिहास के पन्नों देश-दुनिया के इतिहास में 06 अगस्त की तारीख तमाम तरह के बदलावों के लिए दर्ज है। मगर इतिहास के पन्नों

इतिहास के पन्नों में 06 अगस्तः जापान के सीने से कभी नहीं मिट सकते हिरोशिमा-नागासाकी के जख्म - हिन्दुस्थान समाचार

सीमा कुमारी नई दिल्ली: हर साल 6 अगस्त को समूची दुनिया में ‘हिरोशिमा दिवस’ (Hiroshima Day) मनाया जाता है। यह दिवस 1945 को परमाणु बम हमले की वजह से जान गंवाने वालों की याद में मनाया जाता है। 6 अगस्त का दिन मानव इतिहास में दर्ज़ सबसे काले पन्नों में से एक है। इस दिन […]. Read news in hindi at Navabharat (नवभारत).सीमा कुमारी नई दिल्ली: हर साल 6 अगस्त को समूची दुनिया में ‘हिरोशिमा दिवस’ (Hiroshima Day) मनाया जाता है। यह दिवस 1945 को परमाणु बम हमले की वजह से जान गंवाने वालों की याद में मनाया जाता है। 6 अगस्त का दिन मानव इतिहास में दर्ज़ सबसे काले पन्नों में से एक है। इस दिन […]

Hiroshima Day | 'इस' वजह से अमेरिका ने हिरोशिमा पर गिराया था परमाणु बम, जानें मानवता को झंझोर कर रखने वाली यह घटना | Navabharat (नवभारत)

आज से ठीक 76 वर्ष पूर्व  6 अगस्त 1945 यानि आज ही के दिन अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा शहर पर परमाणु हमला कर दिया था। जिसके तीन दिन के उप... | News Trackआज से ठीक 76 वर्ष पूर्व  6 अगस्त 1945 यानि आज ही के दिन अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा शहर पर परमाणु हमला कर दिया था। जिसके तीन दिन के उप..|News Track

बेहद ही खौफनाक है हिरोशिमा का इतिहास, पढ़कर कांप जाएगी आपकी रूह | NewsTrack Hindi 1

जापान ने शनिवार को द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में हुए हिरोशिमा पर परमाणु बमबारी की 77वीं वर्षगांठ मनाई। सुबह 8.15 बजे मौन का एक क्षण देखा गया, ठीक उस…जापान ने शनिवार को द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में हुए हिरोशिमा पर परमाणु बमबारी की 77वीं वर्षगांठ मनाई। सुबह 8.15 बजे मौन का एक क्षण देखा गया, ठीक उसी क्षण जब 6 अगस्त, 1945 को शहर के ऊपर एक…

जापान ने हिरोशिमा बमबारी की 77वीं वर्षगांठ मनाई

जापान ने इन दो हमलों के बाद अमेरिका के सामने घुटने टेक दिए। कहा जाता है यदि जापान अमेरिका के सामने न झुकता तो अमेरिका ने यह योजना बना ली थी कि वह पूरे जापान को तबाह कर देगा।Heroshima Day: आज का दिन इतिहास में दर्द और दहशत की स्याही से लिखा गया है। आज के दिन को कोई नही भूल सकता क्योंकि आज के दिन जापान के एक बड़े शहर में मौत का तांडव

Heroshima Day: देखते ही देखते लाखो लोग हुए राख, पूरा शहर बना मौत का गढ़, हर ओर मच गई तबाही

टोक्यो: हिरोशिमा में शनिवार को शहर में दुनिया की पहली परमाणु बमबारी की 77वीं वर्षगांठ के रूप में घंटी बज गई, जिसमें संयुक्त राष्ट्र महासचिव सहित अधिकारियों ने यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद एक नई हथियारों की दौड़ की चेतावनी दी। रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला किया, और इसके तुरंत […]

हिरोशिमा दिवस: रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच शहर को नई हथियारों की दौड़ का डर - The News Ocean

Hiroshima Day: On this day 80 thousand people died and 40 thousand were injuredनई दिल्ली: Hiroshima Day 2022: आज 6 अगस्त यानी हिरोशिमा दिवस है. आज से 77 साल पहले द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका ने जापान में हिरोशिमा शहर पर परमाणु...

हिरोशिमा दिवस : आज के ही दिन आग का गोला बना था पूरा शहर, 80 हजार लोग मारे गए और 40 हजार हुए घायल

6 अगस्त 1945 को, संयुक्त राज्य अमेरिका ने हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था. विस्फोट से अनुमानित 80,000 लोगों की तुरंत मृत्यु हो गई थी. दोनों परमाणु बम के नाम फैट मैन और लिटिल बॉय थे.6 अगस्त 1945 को, संयुक्त राज्य अमेरिका ने हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था. विस्फोट से अनुमानित 80,000 लोगों की तुरंत मृत्यु हो गई थी. दोनों परमाणु बम के नाम फैट मैन और लिटिल बॉय थे.

Hiroshima Day: जानें अमेरिका ने क्यों उजाड़ दिया था एक हंसता-खेलता शहर