1. फिर कम हो सकती है आपकी EMI, एसबीआई की रिपोर्ट में मिली सलाह  आज तक
  2. लोन इंटरेस्ट/ एसबीआई ने कहा- रेपो रेट में 0.25% से ज्यादा कटौती होनी चाहिए  दैनिक भास्कर
  3. Google समाचार पर पूरी खबर देखें
चुनावी नतीजों के बाद भारतीय रिजर्व बैंक की मीटिंग होने वाली है. इस मीटिंग में ब्‍याज दरों में कटौती को लेकर अहम फैसला हो सकता है.  चुनावी नतीजों के बाद भारतीय रिजर्व बैंक की मीटिंग होने वाली है. इस मीटिंग में ब्‍याज दरों में कटौती को लेकर अहम फैसला हो सकता है.

फिर कम हो सकती है आपकी EMI, एसबीआई की रिपोर्ट में मिली सलाह - Rbi needs to go for large rate cut in june sbi report monetary policy review tut - AajTak

इकोनॉमी में सुस्ती दूर करने के लिए इसे जरूरी बताया आरबीआई की पिछली दो बैठकों में 0.25-0.25 फीसदी कटौती हुई थी | RBI needs to go for larger rate cut in June: SBI report - देश न्यूज,देश समाचार इकोनॉमी में सुस्ती दूर करने के लिए इसे जरूरी बताया आरबीआई की पिछली दो बैठकों में 0.25-0.25 फीसदी कटौती हुई थी | RBI needs to go for larger rate cut in June: SBI report

RBI needs to go for larger rate cut in June: SBI report | एसबीआई ने कहा- रेपो रेट में 0.25% से ज्यादा कटौती होनी चाहिए - Dainik Bhaskar

State Bank of India, the country's largest lender by assets, on Tuesday cut its benchmark lending rates by five basis points across all tenors.State Bank of India, the country's largest lender by assets, on Tuesday cut...

State Bank of India cuts benchmark lending rates by 5 bps - Reuters

Read more about State Bank of India cuts MCLR by 5 bps, home loans cheaper by 10 bps on Business Standard. One-year MCLR will be 8.50% per annum (pa). The interest rates on all loans linked to MCLR stand reduced by 5 bps from April 10, 2019, India's largest lender said in statementOne-year MCLR will be 8.50% per annum (pa). The interest rates on all loans linked to MCLR stand reduced by 5 bps from April 10, 2019, India's largest lender said in statement

State Bank of India cuts MCLR by 5 bps, home loans cheaper by 10 bps | Business Standard News