1. फैसला/ जस्टिस सीकरी ने कॉमनवेल्थ ट्रिब्यूनल में नियुक्ति के सरकार के प्रस्ताव को ठुकराया  Dainik Bhaskar
  2. जस्टिस सीकरी ने ठुकराया मोदी सरकार का प्रस्ताव, राहुल बोले- PM राफेल से डरे  आज तक
  3. जस्टिस सीकरी ने कॉमनवेल्ल्थ ट्राइब्यूनल में नामित करने के लिए दी गयी सहमति वापस ली  प्रभात खबर
  4. आलोक वर्मा के खिलाफ वोट करने वाले जस्टिस सीकरी ने ठुकराया सरकार का ये ऑफर  News18 Hindi
  5. आलोक वर्मा को हटाने वाले पैनल में शामिल जस्टिस एके सीकरी ने केंद्र सरकार के ऑफर को ठुकराया  NDTV India
  6. Googleसमाचार पर पूरी खबर देखें

Justice Sikri withdraws consent to govt offer to nominate him to Commonwealth Tribunal | मोदी सरकार ने दिसंबर में जस्टिस सीकरी को लंदन स्थित कॉमनवेल्थ सेक्रेटरिएट आर्बिट्रल ट्रिब्यूनल में भेजे जाने का प्रस्ताव रखा था सीकरी ने पहले प्रस्ताव पर सहमति जताई थी, रविवार को उन्होंने इससे नाम वापस ले लिया जस्टिस सीकरी, आलोक वर्मा को सीबीआई चीफ पद से हटाने वाली 3 सदस्यीय समिति में शामिल थे, मोदी इस समिति के अध्यक्ष थे- National News,देश न्यूज़,देश समाचार

विवादों में घिरने के बाद जस्टिस एके सीकरी ने मोदी सरकार के उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है, जिसमें उन्हें लंदन स्थित सीएसएटी में अध्यक्ष के तौर पर नामित किया जाना था. जस्टिस एके सीकरी को उच्चस्तरीय चयन समिति में शामिल होने के बाद यह पेशकश मिली थी.

पीएम नरेंद्र मोदी, जस्टिस एके सीकरी और मल्लिकार्जुन खड़गे की तीन सदस्यीय कमिटी ने 2-1 से आलोक वर्मा को पद से हटाने का फैसला लिया था.

सुप्रीम कोर्ट के दूसरे सबसे वरिष्ठ जज एके सीकरी (AK Sikri) ने कॉमनवेल्थ सेक्रेटेरिएट आर्बिट्रल ट्राइब्यूनल से अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है.आपको बता दें कि जस्टिस सीकरी (AK Sikri) आलोक वर्मा को सीबीआई के निदेशक पद से हटाने से जुड़े सेलेक्शन पैनल में शामिल थे, जिसने दो-एक के बहुमत से उन्हें पद से हटाने का फ़ैसला किया था.